गाजा के एक घर में बच्ची के बेड के नीचे रॉकेट,अस्पताल मे मिले हथियार!

Israel-Hamas War: इजरायल लंबे समय से यह दावा करता आया है कि हमास आम नागरिकों को अपनी ढाल के तौर पर इस्तेमाल करता है. दूसरी तरफ हमास ऐसे सभी आरोपों को खारिज करता रहा है. 
 
 
Gaja Attack

World News in Hindi: इजरायल-हमास जंग के बीच इजरायली रक्षा बल के 551वें रिजर्व ब्रिगेड के सैनिकों ने दावा किया कि उन्हें उत्तरी गाजा के बेत हनौन सिटी के एक घर में एक बच्ची के बिस्तर के नीचे हमास के रॉकेट रखे मिले हैं. इजरायल डिफेंस फोर्सेज (आईडीएफ) ने गुरुवार को इसे लेकर एक वीडियो भी जारी किया. कथित वीडियो में सैनिकों को एक कमरे में देखा जा सकता है जिसकी दरवाजे पर 'बेबी गर्ल' लिखा है. वीडियो में दो सैनिक बिस्तर के नीचे रखे रखे रॉकेट दिखाते हैं.

इसके अलावा इस वीडियो में आईडीएफ ने बरामद कई अन्य हथियार भी दिखाए जिनमें मिसाइलें, विस्फोटक उपकरण और विस्फोटक सामग्री शामिल थीं. आईडीएफ ने कहा कि उसने हथियार नष्ट कर दिए.

गौरतलब है कि इजरायल लंबे समय से यह दावा करता आया है कि हमास आम नागरिकों को अपनी ढाल के तौर पर इस्तेमाल करता है. इजरायल अब यही साबित करने की कोशिश कर रह है.

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

अल शिफा को लेकर भी आईडीएफ ने जारी किए वीडियो
इसके अलावा गाजा के सबसे बड़े अस्पताल अल शिफा पर इजरायली सेना ने कार्रवाई की है. इजरायल ने हमास पर अल-शिफा अस्पताल, को कमांड बेस के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. इस दावे का हमास और अस्पताल के अधिकारियों ने खंडन किया है. ऐसा बताया जा रहा है कि अस्पताल के अंदर और उसके आसपास हजारों फिलिस्तीनी शरण लिए हुए हैं.

आईडीएफ ने ने गुरुवार को अल शिफा अस्पताल को लेकर अपने दावे के समर्थन में कुछ वीडियो और फोटोग्राफ्स जारी किए. सोशल मीडिया पर साझा किए गए एक वीडियो में, आईडीएफ ने दावा किया कि हमास अल-शिफा अस्पताल में एमआरआई बिल्डिंग का इस्तेमाल एक ऑपरेशनल डेक्वार्टर के रूप में और तकनीकी उपकरणों के स्टोरेज के लिए भी करता है.

आईडीएफ द्वारा साझा किए गए एक वीडियो में, सैन्य प्रवक्ता जोनाथन कॉनरिकस, कैमरापर्सन के साथ, कथित तौर पर अस्पताल परिसर के अंदर हमास के हथियारों के भंडार के 'सबूत' दिखाने के लिए अस्पताल में दाखिल होते हैं.

कथित वीडियो, आईडीएफ 'असंपादित' होने का दावा करता है,  प्रवक्ता अल-शिफा अस्पताल की एमआरआई बिल्डिंग में सीसीटीवी कैमरों को क्षतिग्रस्त दिखाता है.

वीडियो में प्रवक्ता अस्पताल के अंदर कहते हैं, 'बिना किसी संदेह के, हमास अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करते हुए अपने सैन्य अभियानों के लिए व्यवस्थित रूप से अस्पतालों का इस्तेमाल करता है.'

इसके बाद प्रवक्ता और कैमरापर्सन एमआरआई रूम की ओर बढ़ते हैं जहां वह मिलिट्री 'ग्रैब-बैग' - (युद्ध क्षेत्र में जाने की स्थिति के लिए हथियारों और गोला-बारूद से भरे बैग) दिखाता है. प्रवक्ता बताता है कि बैग को हमने खाली कर दिया है और सामान को अलग रख दिया है. वह सामान भी दिखाता है जिसमें एके-47, कारतूस और एक ग्रेनेड और सैनिक वर्दी दिखाती देती है.

प्रवक्ता वीडियो में कहते हैं, 'इन हथियारों का अस्पताल के अंदर होने से कोई मतलब नहीं है वे यहां इसलिए हैं क्योंकि हमास ने उन्हें यहां रखा है क्योंकि वे इस जगह का उपयोग कई अन्य अस्पतालों और एम्बुलेंसों की तरह अवैध सैन्य उद्देश्यों के लिए करते हैं.'

अस्पताल में कथित सुरंग होने का दावा
आडीएएफ ने एक अन्य वीडियो में अस्पताल के मैदान में 'सुरंग शाफ्ट' को उजागर करने का दावा किया. वीडियो में दिखाया गया है कि अस्पताल की इमारत से थोड़ी दूरी पर जमीन में एक छेद है जो रेतीली मिट्टी, धातु के टूटे हुए टुकड़ों और उसके चारों ओर बिखरे हुए कंक्रीट से घिरा हुआ है.

हमास ने इजरायली दावों का कहा ‘झूठ’
वहीं दूसरी तरफ हमास गुरुवार को फिर इस बात से इनकार किया कि वह अल-शिफा अस्पताल को कमांड और कंट्रोल सेंटर के रूप में इस्तेमाल कर रहा है. उसने इजरायली दावों को 'निराधार झूठ' कहा.

हमास ने एक लिखित बयान में इजरायल पर अल-शिफा मेडिकल कॉम्प्लेक्स के बारे में 'झूठे परिदृश्य, मनगढ़ंत आख्यान और विकृत जानकारी' देने का आरोप लगाया.

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Tags