पिल्लों की छठी पर की एक बड़ी पार्टी, जिसमें 400 लोग किए आमंत्रित , महिलाओं ने सोहर गाए बाहर से कलाकार भी बुलाए गए

यूपी के हमीरपुर गांव में एक कुत्ते का प्यार करने वाले व्यक्ति ने पिल्लों की छठी पर गांव वालों के लिए एक बड़ी पार्टी रखी। महिलाओं ने सोहर गीत गाए। गलियों को लाइटों से सजाया गया। इसके अलावा बाहर के कलाकार भी बुलाए गए।
 

Nodpot News उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एक पॉलतू डॉगी (चटनी) ने नौ बच्चों को जन्म दिया तो उसके मालिक ने धूमधाम से छठी मनाई। पूरे गांव को दावत दी गई। दौरान महिलाओं ने सोहर गीत गाए। 400 से अधिक लोगों को दावत खिलाई। यही नहीं कलाकारों को बुलाया गया 

हमीरपुर: के मेरापुर मुहाल की गलियां दीपावली की लाइटों से सजाई गईं। मेरापुर वार्ड नंबर-10 में रहने वाली राजकली ने घर में एक पालतू डॉगी चटनी पाल रखी है। चटनी लगातार तीसरे साल एक साथ विभिन्न रंगों के नौ पिल्लों को जन्म दिया। सभी स्वस्थ हैं। इससे पहले जन्म दिए पिल्ले बड़े होकर निकल गए, लेकिन चटनी ने राजकली का घर नहीं छोड़ा।

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

 

एक लाख से ज्यादा रुपये खर्च किए

 

हमीरपुर: 38 साल की महिला राजकली अपनी चार साल की बेटी के साथ मेरापुर वार्ड नंबर-10 में रहती हैं। एक दशक में दो बार विधवा होने का दुख झेला और बहुत दर्द से गुजरी। राजकली ने कहा कि मुझे भवनात्मक रूप से बहुत कष्ट सहना पड़ा, तभी फिर मेरी जिंदगी में चटनी आई और उसने मुझे ताकत दी। राजकली ने छठी के आयोजन पर एक लाख से ज्यादा खर्च किए। लोगों को शाकाहारी व्यंजन परोसे गए। कलाकारों को बुलाया गया। लोकगीत और नृत्य का आयोजन किया गया


एक चटनी मेरे लिए बहुत भाग्यवान साबित हुई - राजकुमारी

 

राजकली के घरों की ओर जाने वाली गली के दोनों तरफ रंगीन झालरों से सजाया गया। पारंपरिक रूप से छठी मनाई गई। गांव की महिलाएं राजकली के घर पर एकत्र होकर बच्चे के जन्म पर गाए जाने वाले लोकगीत सोहर गाए। पिल्लों के पंजे में पारंपरिक लाल रंग का आल्टा लगाया। लोगों ने पिल्लों के साथ खूब सेल्फी ली। राजकली ने कहा कि चटनी मेरे लिए स्वास्थ्य और धन के मामले में बुहत भाग्यशाली साबित हुई।

Tags